🌞हॉस्टल की वो एक सुबह 🌻

आज की सुबह हर रोज की सुबह की तरह नहीं है ,,, पिछले चार सालों की तरह आज भी उसी तरह होस्टल की छत पर हम धूप का लुत्फ उठा रहे हैं , चिड़ियों की चचहाहट और प्यारी सी कुकु , ची ची , और सर पर खिलखिलाता सूरज ।होस्टल के गीज़र पर बैठा कबूतर ।और ठंडी ठंडी हवा ।मुझे हर स्पर्श में मेरी हर पुरानी याद ताज़ा कर री है । यूं तो होस्टल सबको बुरा लगता है पर मेरे दोस्त और मुझे यहां अपनापन सा लगता है शायद सबसे ज्यादा यादे हमारी यही तो बनी हैं।होस्टल की मस्तिया, पार्टीज ,वार्डन की डांट , सुबह सुबह भागना ब्रेकफास्ट के लिए लेकिन मै बता दूं सुबह के सारे रूल्स मैने और पिंकी ने तोड़े हैं । आज सब याद आ रहा है तो हर रोज की तरह आज की सुबह आम नहीं है क्युकी आज हम हॉस्टल से हमेशा के लिए बाहर जा
रहे है। हम छत पर घूम रहे हैं और गाना चलाया है जो कुछ यूं है–

Yar gavane sokhe ne par paune ne aukhe
Jo mehnat karde ne oh manzila paa hi lainde ne
Kar sangta koyela di papihe gaa hi lainde ne
Ohi saaj sambh k rakhda jihnu aunde vajaune
Oh yaar gawaune saukhe ne par paune ne aukhe💖🤗

, कुछ इन पंक्तियों के साथ हम चारो दोस्तो की बनाई यादें ताज़ा हो गई । चलो आगे बढ़ना ही जिंदगी है ।पर आज उदास से हैं और खुश भी की पता नहीं चला वक़्त का कब गुजर गया जिंदगी जब ऐसे कटे तो सालों कब गुजर जाते हैं पता ही नहीं लगता । आज जिंदगी का सबसे खूबसूरत अनुभव लेकर जा रही हूं ।
28 सितंबर 2014———28 फ़रवरी 2019
इस दिन हम चारो मिले और चारो ही साथ आज रहे हैं एक दूसरे के साथ एक दूसरे के जिग्री यार । डिग्री के साथ मिले मुझे मेरे जिंदगी के जीग्री यार। कुछ समय बाद दोपहर का खाना मिलेगा मेस का। 😁 हहाहा बता नहीं सकती मैं आपको की मैस वालो को कितना तंग किया हमने हर रोज हमारी एक नई शिकायत होती थी । अब बेचारे चैन से रहेंगे । खैर चलो मै चली अब रूम में बाकी की पैकिंग करनी है ।

आगे अभी बहुत कुछ है जो जल्द ही आपको बताऊंगी ।अभी आप इतना पढ़ो और हां अगर आप कभी होस्टल में रहे हैं तो आपको अपनी फन टाइम जरूर याद आगई होगी। बाय बाय ।😁❤️

साक्षी पाल,😊🌻💖

Author:

be the part of the present

8 thoughts on “🌞हॉस्टल की वो एक सुबह 🌻

  1. u really explain the hostel days in such a nice a way that everybody connect it with his /her hostel days . sakshi u r such a natural writer , everything which u writes here can be easily visualise . I really enjoyed it . god bless u n your friends .

    Liked by 3 people

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s